सेमीफाइनल के रोमांचक मुकाबले में हार के बाद कांस्य के लिए खेलेंगी पिंकी

ओस्लो (नार्वे) चार अक्टूबर (कुश्ती न्यूज़) भारतीय पहलवान पिंकी ( महिला वर्ग 55 किग्रा) ने सोमवार को यहां विश्व चैंपियनशिप के सेमीनफाइनल में जर्मनी की प्रतिद्वंद्वी नीना हेमर को कड़ी चुनौती देने के बाद 6-8 से पिछड़ कर फाइनल खेलने का ऐतिहासिक मौका चूक गयी।

भारतीय पहलवान ने मैच को लगभग अपने नाम कर लिया था लेकिन आखिरी क्षणों में वह मात खा गयी। रोमांच से भरपूर सेमीफाइनल में पिंकी एक समय 0-4 से पीछे चल रही थी लेकिन 2020 की एशियाई चैम्पियन ने हेमर के दायें पैर पर मजबूत पकड़ बनाकर दो अंक हासिल किये।

वह एक मिनट से अधिक समय तक इस पकड़ को बनाये रखने में कामयाब रही लेकिन रेफरी ने ‘चित’ का फैसला नहीं दिया।

इसके बाद पिंकी ने स्कोर को बराबर किया और फिर 6-4 की बढ़त हासिल कर ली। वह हालांकि आखिर तक बढ़त को बनाये रखने में सफल नहीं रही।

किसी भी भारतीय महिला पहलवान ने विश्व चैंपियनशिप का फाइनल नहीं खेला है। गीता फोगट (2012), बबीता फोगट (2012), पूजा ढांडा (2018) और विनेश फोगट (2019) विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली केवल चार भारतीय महिला पहलवान हैं।

इससे पहले पिंकी को कोरिया की किम सोयोन के खिलाफ क्वालीफिकेशन दौर में 5-0 की जीत के दौरान अधिक पसीना नहीं बहाना पड़ा। उन्होंने इसके बाद कजाखस्तान की ऐशा उलिशान को चित्त करके सेमीफाइनल में जगह बनाई।

पुरुष वर्ग में भारतीय पहलवान रोहित ने तकनीकी दक्षता के आधार पर तुर्की के सेलाहतिन किलिसालयन को हराकर 65 किग्रा वर्ग के कांस्य पदक प्ले आफ में जगह बनाई।

रोहित रेपेचेज मुकाबले के लिए उतरे तो उन्हें शुरुआत में जूझना पड़ा। उन्होंने शुरू में अधिकांश समय रक्षात्मक रुख अपनाया और 1-2 से पिछड़ गए।

पहले पीरियड के अंत में हालांकि उन्होंने ‘डबल लेग’ हमला किया और इसे अंक में बदलकर 5-2 की बढ़त बना ली। दूसरे पीरियड में रोहित ने बेहतर प्रदर्शन किया और लगातार अंक जुटाते हुए विजयी बढ़त बनाई।

कांस्य पदक के प्ले आफ में उनका मुकाबला मंगोलिया के तुल्गा तुमुर ओचिर से होगा।

सत्यव्रत कादियान (97 किग्रा) और सुशील (70 किग्रा) को हालांकि अपने क्वालीफिकेशन दौर के मुकाबलों में क्रमश: कोरिया के मिनवोन सियो और जॉर्जिया के जुराबी इयाकोबिशविली के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी।

कादियान ने विरोधी को बाहर धकेलकर छह अंक जुटाए। सियो ने भी छह अंक हासिल किए लेकिन कोरिया के खिलाड़ी को अधिक अंक का मूव बनाने के कारण विजेता घोषित किया गया। उन्होंने दो बार दो अंक जुटाए।

दूसरी तरफ सुशील को 1-5 से शिकस्त झेलनी पड़ी।

महिलओं के अन्य मुकाबलों में संगीता फोगाट ने 62 किग्रा वर्ग में जर्मनी की लुइसा नीमेश को 5-2 से हराकर अच्छी शुरुआत की लेकिन प्री क्वार्टर फाइनल में ब्राजील की लेस नुनेस डि ओलिवियेरा से 4-6 से हार गई।

घुटने की समस्या के कारण संगीता तीन साल के बाद प्रतिस्पर्धी कुश्ती में वापसी कर रही हैं।

भाषा 

SHARE:

Share The Article:

Leave A Reply

Related news