सीडब्ल्यूजी: भारतीय दल में मुक्केबाजी सहायक कोच संध्या और मनोचिकित्सक गायत्री शामिल

लंदन, 25 जुलाई (बॉक्सिंग न्यूज) राष्ट्रमंडल खेलों (सीडब्ल्यूजी) की शुरुआत से कुछ दिन पहले मुक्केबाजी की सहायक कोच संध्या गुरुंग और खेल मनोचिकित्सक गायत्री वर्तक को भारतीय दल में शामिल किया गया है।

द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता संध्या राष्ट्रीय शिविर में सहायक कोच हैं और वह तोक्यो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन का मार्गदर्शन कर रही है। गायत्री मानसिक अनुकूलन कोच हैं जिन्होंने मई में भारतीय टेबल टेनिस टीम के साथ राष्ट्रीय शिविर में काम किया था।

भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) के एक सूत्र ने कहा, ‘‘संध्या गुरुंग और गायत्री वर्तक को भारतीय दल में शामिल किया गया है।’’

तोक्यो ओलंपिक से पहले लवलीना को मुश्किल मानसिक स्थिति से बाहर निकालने का श्रेय संध्या को जाता है। वह मुक्केबाजी दल के साथ आयरलैंड गयी थी, जहां मुक्केबाजों ने 15 दिवसीय शिविर में हिस्सा लिया था।

संध्या को भारतीय दल में आखिरी क्षणों शामिल किया गया था, जिसके कारण उनका एक्रीडेशन नहीं पहुंच सका और बर्मिंघम पहुंचने पर उन्हें हवाई अड्डे  पर रोक लिया गया। वह इसके बाद उस होटल में रूकी जहां अतिरिक्त अधिकारी ठहरे हुए हैं।

गायत्री को अभी भी अपने वीजा का इंतजार है।

सूत्र ने बताया, ‘‘ संध्या पहले ही बर्मिंघम पहुंच चुकी है लेकिन गायत्री अपने वीजा का इंतजार कर रही है जो कल आएगा।’’

पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी गायत्री इन खेलों में मुख्य रूप से  टेबल टेनिस खिलाड़ियों की मदद करेंगी। वह अतीत में लक्ष्य सेन और स्क्वाश खिलाड़ी सौरव घोषाल की मदद कर चुकी है।

इससे पहले टेबल टेनिस खिलाड़ियों ने भारतीय दल में उन्हें शामिल नहीं करने पर निराशा जतायी थी।

भाषा 

ये भी पढ़े : राष्ट्रमंडल खेलों में वापसी करना चाहेंगे अमित पंघाल और लवलीना

SHARE:

Share The Article:

Leave A Reply

Related news