इंग्लैंड की एशेज हार के लिये ‘द हंड्रेड्र’ को दोषी ठहराना हास्यास्पद : मोर्गन

बारबाडोस, 19 जनवरी (क्रिकेट न्यूज़) सीमित ओवरों के कप्तान इयोन मोर्गन को लगता है कि हाल में एशेज श्रृंखला में इंग्लैंड की हार के लिये ‘द हंड्रेड’ को जिम्मेदार ठहराना ‘हास्यास्पद’ है और उन्होंने कहा कि टेस्ट क्रिकेट हमेशा ही ‘प्राथमिकता रही है’।

इंग्लैंड की टेस्ट टीम को एशेज श्रृंखला में पिछले हफ्ते आस्ट्रेलिया से 0-4 से हार का सामना करना पड़ा। मेजबानों ने उन्हें चारों मैचों में पूरी तरह से पस्त किया जबकि जो रूट की अगुआई वाली टीम केवल चौथे टेस्ट में ही ड्रा खेल सकी।

मोर्गन की यह टिप्पणी टेस्ट कप्तान रूट के एशेज हार के बाद ईसीबी (इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड) को उनकी टीम को ‘प्राथमिकता’ देने के अनुरोध के बाद आयी है जिससे उनका मतलब है कि 2015 के बाद सीमित ओवर के क्रिकेट पर ज्यादा ही ध्यान दिया गया है।

मोर्गन ने ‘टॉकस्पोर्ट’ से कहा, ‘‘जो लोग इसे एक बहाना बना रहे हैं, वे क्रिकेट नहीं देखें। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘टेस्ट मैच क्रिकेट हमेशा ही प्राथमिकता रहा है – यह प्रारूप हमारे एलीट खिलाड़ियों के लिये है। निश्चित रूप से एशेज के दौरान आस्ट्रेलिया में कई बार काफी मुश्किल आयीं, लेकिन ये हमेशा ही आती है। हम पिछली दो श्रृंखलायें 0-4 से हारे हैं। ’’

रूट ने घरेलू ढांचे में ‘द हंड्रेड’ (ईसीबी की 100 गेंद के क्रिकेट टूर्नामेंट की पेशेवर फ्रेंचाइजी) के समय में बदलाव और लाल गेंद के अधिक मैचों के आयोजन के लिये कहा है।

मोर्गन ने कहा, ‘‘ ‘द हंड्रेड’ पर उंगली उठाना हास्यास्पद है। ‘द हंड्रेड’ को अविश्वसनीय सफलता मिली है। ’’

भाषा 

ये भी पढ़े : लैंगर अनुबंध बढ़ाने के लिये क्रिकेट आस्ट्रेलिया से बातचीत को तैयार

शेयर करे:

Leave A Reply

संबंधित लेख