एशियाई खेलों के लिए खिलाड़ियों की सूची में शामिल हो सकती है जिमनास्ट दीपा करमाकर

नयी दिल्ली, सात अगस्त (भाषा) स्टार भारतीय जिमनास्ट दीपा करमाकर को एशियाई खेलों के लिए भारतीय दल में चुने जाने की संभावना है क्योंकि भारतीय जिमनास्टिक महासंघ (जीएफआई) ने खेल मंत्रालय से उनको टीम में शामिल करने का अनुरोध किया है।

नयी दिल्ली, सात अगस्त (भाषा) स्टार भारतीय जिमनास्ट दीपा करमाकर को एशियाई खेलों के लिए भारतीय दल में चुने जाने की संभावना है क्योंकि भारतीय जिमनास्टिक महासंघ (जीएफआई) ने खेल मंत्रालय से उनको टीम में शामिल करने का अनुरोध किया है।

रियो ओलंपिक (2016) में चौथे स्थान पर रहकर भारतीय जिमनास्टिक को सुर्खियों में लाने वाली दीपा को मंत्रालय के चयन मानदंडों को पूरा करने में विफल रहने के कारण 23 सितंबर से शुरू होने वाले आगामी हांग्झोउ एशियाई खेलों के लिए महिला जिमनास्टिक टीम की अंतिम सूची से हटा दिया गया था।

खेल मंत्रालय के चयन मानदंड में मुताबिक ‘प्रतियोगिता (एशियाई खेल) शुरू होने से पहले पिछले 12 महीनों के दौरान व्यक्तिगत स्पर्धाओं में खिलाड़ियों का प्रदर्शन 2018 एशियाई खेलों के आठवें स्थान धारक द्वारा हासिल किए गए प्रदर्शन से कम नहीं होना चाहिए।’’

दीपा ने 11 और 12 जुलाई को भुवनेश्वर में आयोजित ट्रायल में शीर्ष स्थान हासिल किया था। वह 15 जुलाई की समय सीमा से पहले एशियाई खेलों के आयोजकों को भेजी गई शुरुआती टीम का हिस्सा थीं।  मंत्रालय के मानदंडों को पूरा नहीं करने के कारण हालांकि बाद में उन्हें भारतीय खिलाड़ियों की सूची से बाहर कर दिया गया था।

जीएफआई चयन समिति के अध्यक्ष अशोक साहू ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘दीपा ने भारतीय जिमनास्टिक का चेहरा बदला है। वह चोट और डोपिंग निलंबन के कारण पिछले कुछ वर्षों से प्रतिस्पर्धा नहीं कर रही है, लेकिन हमें इस बात पर विचार करना होगा कि उसने ट्रायल में शीर्ष स्थान हासिल किया है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ इस स्थिति से निराश दीपा ने इसके बाद छूट के लिए मंत्रालय से संपर्क किया और यहां तक कि भारतीय जिमनास्टिक महासंघ ने भी उनके मामले पर विचार करने के लिए भारतीय खेल प्राधिकरण को एक अनुरोध पत्र भेजा था।’’

दीपा ने 2017 में एंटीरियर क्रूसिएट लिगामेंट (एसीएल) की चोट के इलाज के लिए सर्जरी करवाई थी। इस सर्जरी के बाद भी उनके घुटने में समस्या ने उन्हें प्रमुख प्रतियोगिताओं से दूर रखा। वह स्टुटगार्ट में 2019 विश्व चैंपियनशिप  और फिर 2021 में हुए तोक्यो ओलंपिक खेलों में भाग लेने से चूक गयी।

प्रतिबंधित पदार्थ के परीक्षण में पॉजिटिव पाये जाने के बाद उन्हें 21 महीने के प्रतिबंध का सामना करना पड़ा। उनका प्रतिबंध इस साल 10 जुलाई को समाप्त हुआ।

साहू  ने कहा, ‘‘हमने दीपा के मामले पर विचार करने के लिए साइ (भारतीय खेल प्राधिकरण) को लिखा है और उन्हें छूट मिलने की संभावना है। हम इसे लेकर काफी सकारात्मक हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘फुटबॉल टीमों को भी छूट दी गई है और इसलिए दीपा पर भी विचार किया जाना चाहिए और हमें साइ से सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है। उन्हें इस सप्ताह मंजूरी मिलने की संभावना है।’’

मंत्रालय के एक अधिकारी ने यह भी कहा कि दीपा को भारतीय जिमनास्टिक में उनके योगदान के लिए छूट दी जा सकती है।

अधिकारी ने कहा, ‘‘दीपा और महासंघ (जीएफआई) ने हमें पत्र लिखकर पात्रता मानदंड में छूट देने का अनुरोध किया है। इस मामले पर इस सप्ताह चर्चा  होगी और पूरी संभावना है कि उस पर विचार किया जाएगा।’’

Source: PTI News

शेयर करे:

Leave A Reply

संबंधित लेख